PM Vishwakarma 2024: महिलाओं को 15 हजार रुपये एवं मुफ्त सिलाई मशीन, ऐसे करें आवेदन

PM Vishwakarma Yojana 2024: कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की रिपोर्ट्स के अनुसार, मार्च 2024 में लगभग 3 लाख 70 हजार से भी अधिक महिलाओं में पीएम विश्वकर्म योजना का लाभ ले चुके हैं। जो महिला सिलाई कर अपने परिवार का पालन पोषण करती है उनके लिए यह योजना काफी लाभकारी मानी जा रही है, इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी आवेदकों को सिलाई मशीन खरीदने के लिए 15000 रुपये DBT के माध्यम से दिए जाएंगे। केंद्र सरकार इस योजना में केवल सिलाई मशीन ही नहीं बल्कि 15 हजार रुपये के टूलकिट के साथ मुफ्त ट्रेनिंग भी प्रधान की जाएगी, ट्रेनिंग के दौरान 500 रुपये प्रशिक्षण वजीफे के तौर पर दिए जाएंगे। यह ट्रेनिंग 5 से 15 दिनों के लिए होती है जिसमें एडवांस ट्रेनिंग भी दी जाती है।

मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 17 सितंबर 2023 को PM Vishwakarma की घोषणा करने के बाद बीते कुछ महीनो में हजारों लोग इस योजना में अपना पंजीयन करवा चुके हैं। यह योजना उन सभी पात्र लोगों के लिए है जो अपने हाथों, औज़ारों और उपकरणों से कड़ी मेहनत कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। यदि आप इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने का सोच रहे हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए है, इस आर्टिकल में हम प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में आवेदन कैसे करें और इसके क्या लाभ है इन सभी महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी देंगे।

PM Vishwakarma Yojana 2024 Silai Machine Apply

मुफ्त सिलाई मशीन पाने के लिए सबसे पहले आपको पीएम विश्वकर्मा योजना में अपना आवेदन करना होगा, Ministry of MSME के आधिकारिक वेबसाइट pmvishwakarma.gov.in पर जाकर आवेदन किया जा सकता है। इस योजना में आवेदन करने के बाद जानकारी एवं दस्तावेजों को जिला कार्यान्वयन समिति द्वारा वेरीफाई किया जाएगा, इसके बाद स्क्रीनिंग कमेटी इस एप्लीकेशन का निरीक्षण करेगी। एप्लीकेशन स्वीकारने के बाद आपको सामान्य ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी और ट्रेनिंग के दौरान एक तोल के उपलब्ध कराया जाएगा, यह दर्जी टूलकिट आपके प्रशिक्षण के लिए उपयोगी होगा। ट्रेनिंग के पश्चात, सिलाई मशीन के लिए सरकार आपके खाते में 15,000 रुपये ट्रांसफर करेगी।

व्यवसाय के लिए मिलेगा 3 लाख रुपये का सरकारी लोन

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत सिलाई मशीन खरीदने के बाद इच्छुक लाभार्थी व्यवसाय के लिए ₹3,00,000 तक का लोन भी ले सकता है, जिसे दो भागों में बांटा गया है, पहले चरण में, आवेदक व्यवसाय को शुरू, उपकरणों को खरीदने एवं व्यवसाय के काम में लगाने के लिए Rs.1,00,000 रुपये तक का लोन ले सकता है जैसे 18 महीना में चुकाया जा सकता है तथा दूसरे चरण में, Rs.2,00,000 तक का लोन ले सकता है जैसे 30 महीना में चुकाया जा सकता है। यह लोन पांच प्रतिशत के रियायत दर पर दिया जाता है जिसमें क्रेडिट गारंटी शुल्क भारत सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है?

PM Vishwakarma Yojana Woman with Silai Machine

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही PM Vishwakarma Yojana एक सरकारी योजना है जिसकी घोषणा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर 2023 को की गई, इस योजना के तहत कारीगर एवं शिल्पकार शाहिद 18 श्रेणियां में कार्य करने वाले वह लोग जो अपने हाथों से औजारों एवं उपकरणों का इस्तेमाल करते हैं उन्हें मुफ्त ट्रेनिंग, सरकारी लोन, PM Vishwakrma Certificate एवं 15 हजार रुपये के टूलकिट प्रदान की जाती है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए पात्रता

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए कौन पात्र है?

मानदंडविवरण
वर्तमान पारिवारिक व्यवसायपरिवार का कोई व्यक्ति सरकारी नौकरी में नहीं होना चाहिए।
आयुआवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
पारिवारिक लाभपरिवार का केवल एक सदस्य इस योजना का लाभ ले सकता है।
व्यवसाय / व्यापारपारंपरिक शिल्प में संलग्न अर्थात हाथों एवं औजारों का इस्तेमाल (कल 18 श्रेणियां)
दस्तावेजआधार कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक विवरण, पहचान पत्र और जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए।
व्यापार का इतिहासपारंपरिक व्यवसाय के लिए पहले से कोई सरकारी लोन ना लिया हो।

पीएम विश्वकर्मा योजना में मिलने वाले लाभ

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:

  • सिलाई मशीन खरीदने के लिए 15,000 रुपये दिए जाएंगे।
  • इस योजना में लाभार्थियों को पहचान के तौर पर पीएम विश्वकर्मा प्रमाण पत्र एवं आईडी कार्ड दिया जाता है।
  • इस योजना में ₹3,00,000 तक का लोन प्रदान किया जाता है।
  • पीएम विश्वकर्मा योजना ट्रेनिंग के दौरान स्किल में अपग्रेड होगी और नई जानकारी को सीखेंगे।
  • डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन के लिए हर ट्रांजैक्शन पर ₹1 दिया जाएगा (₹100 प्रति माह)
  • यदि आप भविष्य में व्यवसाय करना चाहते हैं तो मार्केटिंग और ब्रांडिंग से संबंधित सहायता की जाएगी।

पीएम विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत शामिल श्रेणियाँ

इस योजना में सरकार ने 18 पारंपरिक व्यापार श्रेणियों को शामिल किया है जिसमें 30 लाख लाभार्थियों को लाभ दिया जाएगा। पीएम विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत आने वाली श्रेणियां की लिस्ट:

  1. बढ़ई (सुथार)
  2. नाव बनाने वाले
  3. कवचधारी अन्य
  4. लोहार
  5. हथौड़ा और टूल किट निर्माता
  6. ताला बनाने वाला
  7. सुनार
  8. कुम्हार
  9. मूर्ति बनाने वाला
  10. मोची
  11. राजमिस्त्री
  12. झाड़ू एवं टोकरी बनाने वाले
  13. पारंपरिक रूप से खिलौने बनाने वाले
  14. नाई
  15. माला निर्माता
  16. धोबी
  17. दर्जी
  18. मछली पकड़ने का जाल बनाने वाला

केंद्र सरकार की इस लाभकारी योजना से भारत के नागरिक आत्मनिर्भर बनेंगे और पीएम विश्वकर्मा योजना की सहायता से एक अच्छे व्यवसाय की शुरुआत कर पाएंगे। यदि आप इन श्रेणियां के अंतर्गत पारंपरिक ढंग से कार्य करते हैं तो आपको इस योजना में आवेदन अवश्य करना चाहिए।

Leave a Comment